PM Sukanya Samriddhi Yojana: क्या है सुकन्या समृद्धि योजना? जानिए पूरी योजना के बारे में

Sukanya Samriddhi Yojana: सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत माननीय प्रधानमंत्री जी ने 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत किया था। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आप किसी भी डाकघर या बैंक की शाखा जाकर यह खाता खोल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए बैंक में खाता खुलवाना अनिवार्य है। इस योजना का खाता किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है। जैसे-भारतीय स्टेट बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक आदि। Sukanya Samriddhi Yojana, Sukanya Samriddhi Yojana Online Form, सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर, सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट, Sukanya Samiriddhi Yojana Registration Sarkari Result

Sukanya Samriddhi Yojana 2022

भारत सरकार द्वारा 22 जनवरी 2015 को सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया गया है। यह योजना एक बचत योजना है। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए अभिभावक को अपनी बेटी की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अकाउंट खुलवाना होगा। इस अकाउंट में निवेश की न्यूनतम सीमा ₹250 रुपए है तथा अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपए हैं।

यह निवेश बेटी की उच्च शिक्षा या फिर शादी के लिए किया जा सकता है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा निवेश पर 7.6% की दर से ब्याज प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत निवेश करने पर टैक्स में छूट भी प्रदान की जाएगी। यह योजना केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई एक छोटी बचत योजना है। इस योजना को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के अंतर्गत लांच किया गया है।

सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य

सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों की पढ़ाई लिखाई से लेकर उनकी शादी तक होने वाले खर्चों को पूरा करना। सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के माध्यम से आप अपनी बेटियों का भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं। इस योजना में माता-पिता या अभिभावक केवल बेटी के नाम पर खाता खोल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना की विशेषताएं:

इस योजना के तहत, आप न्यूनतम राशि 250 रुपये और अधिकतम राशि 1.5 लाख रुपये जमा कर सकते हैं।

इस योजना के अंतर्गत माता-पिता कन्या के नाम से केवल एक ही खाता खुलवा सकते हैं| यदि दो लड़कियां हैं, तो उनके नाम पर अलग-अलग खाता खुलवाना पड़ेगा।

अगर माता-पिता की दो जुड़वा बेटियां हैं, तो उनको उनका जन्म प्रमाण पत्र और अन्य जरूरी दस्तावेजों को जमा करवाना पड़ेगा। उसके बाद ही उनके नाम से खाता खुल पाएगा।

इस योजना में वर्तमान में 7.6 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जा रहा है।

सुकन्या समृद्धि योजना के खाते का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें टैक्स की छूट मिलती है।

बैंक में खाता खुलने के बाद केवल 14 साल तक ही इसमें पैसा जमा करना होगा और यह खाता बेटी के 21 साल पूरे होने पर मैच्योर हो जाएगा।

यदि किसी वजह से माता पिता के द्वारा इसमें पैसे जमा नहीं किए गए तो खाता बंद कर दिया जाएगा। खाता को दोबारा चालू करने के लिए उन्हें ₹50 प्रति वर्ष फाइन देना पड़ेगा।

जब बेटी की शादी 18 साल से 21 साल के बीच हो जाती है, तो शादी के बाद सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट बंद कर दिया जाता है और निर्धारित जमा पैसे कन्या को दे दिया जाता है।

PM Kanya Yojana टैक्स बेनिफिट

इनकम टैक्स अधिनियम 1961 के सेक्शन 80C के अंतर्गत सुकन्या समृद्धि योजना में जमा की गई धनराशि,ब्याज की राशि तथा मेच्योरिटी अमाउंट को टैक्स फ्री किया है। इस योजना के अंतर्गत किए गए योगदान पर सरकार द्वारा छूट प्रदान की गई है जो कि प्रतिवर्ष ₹150000 तक है।

खाता खुलवाने के लिए जरूरी दस्तावेज:

  • सुकन्या समृद्धि योजना फॉर्म
  • कन्या का जन्म प्रमाण पत्र
  • ऐड्रेस प्रूफ
  • आईडी प्रूफ
  • इस योजना के तहत खाता खोलने के लिए आपको सुकन्या समृद्धि योजना फॉर्म के साथ अपनी बेटी का जन्म प्रमाण पत्र डाकघर या बैंक में जमा करना होगा।
  • इसके अलावा बच्चे और माता-पिता का पहचान पत्र (पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट) और वे कहां रह रहे हैं इसका प्रमाण (पासपोर्ट, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, पानी का बिल) देना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए अधिकृत बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना खाते खोलने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा अधिकृत कुल 28 बैंक हैं। उपयोगकर्ता निम्नलिखित में से किसी भी बैंक में SSY खाता खोल सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते है ।

  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक
  • ICICI Bank

सुकन्या समृद्धि योजना की कुछ नियम व शर्तें

खाता खुलवाने की आयु: सुकन्या समृद्धि खाता बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।

खाते की संख्या: एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता इस योजना के अंतर्गत खोला जा सकता है।

इस योजना के अंतर्गत एक बेटी के लिए माता द्वारा अलग तथा पिता द्वारा अलग खाता ही नहीं संचालित किया जा सकता।

परिवार के खाताधारकों की संख्या: एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।

जुड़वा बेटियों की स्थिति में एक परिवार की खाताधारक की संख्या: यदि जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है तो उस स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं।

खाते का संचालन: सुकन्या समृद्धि खाते को खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक द्वारा संचालित किया जाता है।

Leave a Reply