Solar Pump Connection Yojana 2022: खेतों में सोलर पंप लगवाने पर सब्सिडी का ऑफर, जानिए कौन कर सकता है आवेदन

Solar Pump Connection Yojana: सरकार के Subsidy on Solar Pump योजना की मदद से देश के करीब 20 लाख किसानों को सौलर पैनल से खेत की सिंचाई करके बंजर जमीन में भी फसल उगाने का मौका मिलेगा।

Solar Pump Connection Yojana: देश के किसानों को प्रधानमंत्री कुसुम योजना (Pradhan Mantri Kusum Yojana) के तहत एक बहुत ही बड़ा तोहफा मिल रहा है। इस योजना से देश के करीब 20 लाख किसानों को सौर ऊर्जा की मदद से सिंचाई करके बंजर जमीन में भी जान भरने में मदद मिलेगी किसान

Pradhan Mantri Kusum Yojana: किसान सोलर पंप सेट

प्रधानमंत्री कुसुम योजना (Pradhan Mantri Kusum Yojana): किसानों को खेती करने के लिये पानी और बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये भारत सरकार ने साल 2019 में पीएम कुसुम योजना की शुरुआत की। इस योजना का उद्देश्य किसानों को सिंचाई के लिये सोलर पंप (Solar Pump Connection Yojana) की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना है, जिससे बिजली और किसानों के श्रम दोनों की बचत हो सके। सरकार की ओर से Yojana के लिए 34,422 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना 2022 का उद्देश्य

Pradhan Mantri Kusum Yojana का उद्देश्य किसानों को सौर ऊर्जा पंप (solar power pump) स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है। कई राज्य ऐसे हैं जहां पानी के अभाव में फसल खराब हो जाती है। नहीं तो किसान सोलर पैनल ( install solar panels) नहीं लगा पा रहा है। इन्हीं समस्याओं को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा योजना के तहत सोलर पैनल (solar panels ) लगाए जाएंगे। ये Solar Panel बिजली भी पैदा करेंगे, जिसका इस्तेमाल किसान अपने घरों में कर सकते हैं और सरकार को अतिरिक्त बिजली भी बेच सकते हैं। PMKY से किसानों की आय भी बढ़ेगी।

Mukhyamantri Solar Pump Scheme 2022 के लाभ

  • केंद्र और राज्य सरकार की ओर से किसानों को सौर ऊर्जा और सोलर पंप प्लांट लगाने के लिये 30-30 प्रतिशत की दर से सब्सिड़ी दी जा रही है।
  • इससे किसान को सिर्फ 40 फीसदी भुगतान करके सौर ऊर्जा पंप की यूनिट लगा सकते हैं।
  • किसान चाहें तो अपने 40 प्रतिशत खर्च को भी कम करने के लिये नाबार्ड, बैंक और दूसरी वित्तीय संस्थाओं से 30 प्रतिशत खर्च के लिये लोन ले सकते हैं।
  • सरकार और नाबार्ड की तरफ से मिलने वाले अनुदान के बाद किसान को सिर्फ 10 प्रतिशत ही पैसा भरना होगा।
  • किसान चाहें तो सोलर पैनल से बिजली बचाकर बेच भी सकते हैं, इससे उन्हें अतिरिक्त आमदनी मिल जायेगी।
  • खेत में एक बार सोलर पंप की खरीद से किसानों को अगले 25 साल तक लाभ मिलेगा।
  • सौलर पैनल का रख-रखाव बेहद आसान है, इससे प्रदूषण को कम करने में भी खास मदद मिलती है।

ऑनलाइन आवेदन करने के लिए पात्रता शर्तें

  • इस योजना के लिए भारत के हर छोटे-बड़े किसान आवेदन कर सकते है। लेकिन भारत सरकार ने इस योजना के लाभार्थियों के लिये पात्रता निर्धारित की है, जो इस प्रकार है-
  • कुसम योजना के आवेदनकर्ता किसान का भारतीय नागरिक होना बेहद जरूरी है।
  • आवेदन करने के लिये किसानों के पास सभी जरूरी दस्तावेजों को होना जरूरी है।
  • इस योजना के तहत सौर ऊर्जा संयंत्र के लिये 0.5 मेगावाट से 2 मेगावाट क्षमता वाले प्लांट की खरीद के लिये आवेदन कर सकते हैं।
  • किसान चाहें तो अपनी जरूरत के अनुसार या फिर वितरण निगम द्वारा अधिसूचित क्षमता के आधार पर आवेदन कर पायेंगे।
  • अगर आवेदनकर्ता किसान विकासकर्ता के माध्यम से सौलर पंप की बड़ी यूनिट हेतु आवेदन कर रहा है, विकासकर्ता की सालाना आमदनी 1 करोड़ रुपये प्रति मेगावाट होना अनिवार्य है।

Solar Pump Connection Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • किसान का आधार कार्ड
  • आवेदनकर्ता किसान का राशन कार्ड
  • आवेदनकर्ता किसान का KYC होना जरूरी है
  • किसान का पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदनकर्ता का बैंक में खाता अनिवार्य है क्योंकि अनुदान की रकम खाते में जमा करवाई जाती है.
  • बैंक खाते का विवरण 

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना 2022 में आवेदन कैसे करे?

इस योजना से लाभ लेने के लिये किसान अपने नजदीकी कृषि विभाग के कार्यलय में संपर्क कर सकते हैं। या फिर सरकारी वेबसाइट HTTPS://MNRE.GOV.IN/ पर जाकर भी रजिस्ट्रेशन करके आवेदन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री-कुसुम योजना के नाम पर धोखाधड़ी करने वाली वैबसाइटों से सावधान

मंत्रालय के संज्ञान में आया है कि कई फर्जी वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन आवेदकों से प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (प्रधानमंत्री-कुसुम योजना) के नाम पर किसानों से सोलर पम्प लगाने हेतु ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने के साथ पंजीकरण शुल्क तथा पंप की कीमत का ऑनलाइन भुगतान करने को कह रहे हैं। इनमें से कुछ फर्जी वेबसाइट डोमेन नाम * .org, * .in, * .com में पंजीकृत हैं जैसे www.kusumyojanaonline.in.net, www.pmkisankusumyojana.co.in, www.onlinekusamyojana.org.in, www.pmkisankusumyojana.com और इसी तरह की कई अन्य वेबसाइटें हैं।

इसलिए प्रधानमंत्री-कुसुम योजना के लिए आवेदन करने वाले सभी किसानों को सलाह दी जाती है कि वे धोखाधड़ी करने वाली वेबसाइटों पर न जाएं तथा कोई भी भुगतान न करें। प्रधानमंत्री-कुसुम योजना को राज्य सरकार के विभागों द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।

योजना की अधिक जानकारी के लिए नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) की आधिकारिक वेबसाइट www.mnre.gov.in पर विजिट करें अथवा टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 डायल करें !

Leave a Reply